क्वारनटीन सेंटर के खाने में कीड़े देख मजदूरों ने मचा तोड़-फोड़

इस Lockdown के दौरान सबसे ज्यादा परेशानी मजदूरों को हो रही है एक तो घर से दूर और कमाने-खाने का कोई भी साधन नहीं लाखों की संख्या में मजदूर पैदल ही अपने घरों को निकल पड़े हैं लेकिन ऐसे में उनकी हालत बहुत ही गंभीर है रस्ते में जो मिलजाए वही खा लेते हैं जहां मिले वहीं सो जाते हैं कुछ मजदूरों को तो खाना भी नसीब नहीं हो रहा वे भूंख से ही तड़प रहे हैं न कोई घर जाने का साधन है और न ही कोई सुविधा लेकिन सरकार ऐसे में बीएस और ट्रेने चलकर इन मजदूरों की मदद कर रही है

वापस लोट रहे मजदूरों को सरकार क्वारनटीन सेंटर में चेकअप के लिए कुछ दिन रोकती है इन कुछ समय में वहां पर उन्हें खाना और रहने की व्यवस्था का सरकार पूरा ध्यान रख रही है लेकिन जब मिलने वाले खाने में कीड़े देखे तब मजदूरों ने पुरे क्वारनटीन सेंटर में हंगामा मचा दिया

मजदूरों का आरोप है कि पिछले कई दिनों से इस तरह का गंदा खाना उन्हें दिया जा रहा है. शिकायत करने के बावजूद खाने की गुणवत्ता में कोई सुधार नहीं हुआ. इस क्वारनटीन सेंटर में खूब मच्छर भी हैं, जिनके काटने से मजदूरों के शरीर पर जख्म हो गए हैं. इसके लिए मच्छरदानी की मांग कई बार की जा चुकी है. लेकिन कोई सुनने के लिए तैयार नहीं है.

गोपालगंज के बीडीओ पंकज कुमार शक्तिधर ने तत्काल भोजन हटाने और साफ खाना तैयार करने के आदेश दिए हैं. एक प्रवासी मजदूर राज कुमार का कहना है कि खाने में कीड़े तो रहते ही हैं साथ में घुन और धान के अलावा थालियां भी साफ तरह से नहीं धुली जाती हैं. इसे लेकर कई बार शिकायत की गई लेकिन किसी ने नहीं सुनी.

 

Leave a comment