Home Lifestyle इस शनि जयंती पर इन 5 राशियों की बदलेगी किस्मत, होगी धन...

इस शनि जयंती पर इन 5 राशियों की बदलेगी किस्मत, होगी धन की वर्षा

65
0

कर्मफल दाता शनि देव को सभी देवों में सबसे बढ़कर माना गया है क्योंकि ये सेवा से कम और मनुष्य के कर्मों से ज्यादा प्रसन्न होते हैं है शनि जयंती इस साल शुक्रवार, 22 मई को मनाई जाएगी. ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि पर शनि देव का जन्म हुआ था, इसलिए ज्येष्ठ अमावस्या वाले दिन शनि जयंती मनाई जाती है और इस साल ग्रहों के शुभ संयोग के कारण इन 5 राशियों पर शनि देव की पूरी मैहर होगी और सभी बिगड़े काम भू पुरे हो जाएंगे

मेष- मेष राशि के जातकों के लिए शनि जयंती बेहद खास और शुभ रहने वाली है. व्यापार और धन लाभ के योग बन रहे हैं. शनि कर्म भाव में हैं. निश्चित ही नए कार्य का अनुभव होगा. नए कार्य में में हाथ डालने के लिए यह बेहद शुभ घड़ी है. गुप्त रूप से धन की प्राप्ति होगी और आय के नए स्रोत भी उत्पन्न होंगे. दूसरों को परेशान न करें. सुंदरकांड या हनुमान चालीसा का पाठ करें.

सिंह- सिंह राशि के जातकों के लिए शनि जयंती पर मिला-जुला परिणाम मिलेगा. शनि देव आपकी राशि के छठे भाव में उपस्थित रहेंगे. नया कार्य शुरू करने के लिए यह बेहद अच्छा समय है. हालांकि इस दौरान शत्रु पक्ष आपके लिए बड़ी समस्या खड़ी कर सकता है. इस दिल काली उड़द की दाल दान करने से आपके शत्रुओं का नाश होगा.

तुला- शनि जयंति पर शनिदेव तुला राशि के चौथे भाव में होंगे. समाज में प्रतिष्ठा बढ़ेगी. मेहनत करने से सफलता मिलेगी. नौकरी व्यापार के मामले में सब ठीक रहेगा. धन लाभ के योग भी बन रहे हैं. खर्चे कम होंगे और कर्ज से मुक्ति भी मिलेगी. शमी के वृक्ष को जल अर्पित करने से आपका भाग्योदय हो सकता है.

वृश्चिक- वृश्चिक राशि के जातकों को इस दौरान थोड़ा संभलकर रहने की जरूरत होगी. शनि आपके पराक्रम भाव में हैं. गुप्त शत्रुओं से आपको बेहद सावधान रहना होगा. हालांकि नया कार्य शुरू करने के लिए यह अच्छा समय है. लंबे वक्त से अटके कार्य पूरे होंगे. शनि जयंती के बाद हर शनिवार को गरीबों की यथासंभव मदद करने से आपको दोगुना लाभ मिलेगा.

कुंभ- शनि जयंती पर ग्रहों का संयोग कुंभ राशि के जातकों को बहुत ज्यादा लाभ नहीं देगा. इसके विपरीत आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है. सीमित संसाधनों के साथ धन आता रहेगा. स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की भी जरूरत है. सफलता प्राप्त करने के लिए अधिक संघर्ष करना होगा. नीलम का रत्न धारण करने से शनि की साढ़े साती का प्रभाव कुछ कम हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here